उमा भारती की किसानों से अपील- हठ छोड़ें और सकारात्मक बातचीत के लिए आगे आएं

मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के लंबे समय से जारी आंदोलन को अनुचित ठहराते हुए कहा है कि किसानों को अपना हठ और अहंकार छोड़कर सकारात्मक बातचीत के लिए आगे आना चाहिए।

उमा भारती ने कल बैतूल में बालाजीपुरम मंदिर के एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद देर शाम मीडिया से चर्चा में नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के लंबे समय से जारी आंदोलन को गलत ठहराया। उन्होंने कहा कि किसानों को सकारात्मक बातचीत के लिए आगे आना चाहिए।

हालांकि उन्होंने कहा कि किसान सकारात्मक भाव से आगे बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि किसान अपनी बात शांतिपूर्ण ढंग से रख रहे हैं, लेकिन उन्हें सरकार से मुद्दों पर बातचीत के लिए और सकारात्मक होना चाहिए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने दोहराते हुए कहा कि वे 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ेंगी।

आपको बता दें कि बीते लगभग दो महीने से दिल्ली से लगने वाली सीमाओं पर किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं। अभी तक सरकार के साथ उनकी कई दौर की वार्ता हो चुकी है, जो कि बेनतीजा रही।

Leave a Reply