तुलसी सिलावट बोले- अधिकारी व कर्मचारियों को 1 हफ्ते में मिलेगी अनुकंपा नियुक्ति

0
46

ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक और शिवराज सरकार में जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट का बड़ा बयान सामने आया है। तुलसी सिलावट ने कहा है कि जल संसाधन विभाग कोविड के कारण मृत्यु वाले 86 अधिकारी और कर्मचारियों को 8 दिन में अनुकंपा नियुक्ति-पत्र  देगा। इस दौरान उन्होंने कई अधिकारियों और कर्मचारियों को घर पहुंचकर नियुक्ति पत्र दिए और ज्वाइनिंग भी करवाई।

दरअसल, आज जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियो को कोविड के कारण मृत कर्मचारियों के परिवारों को नियुक्ति-पत्र और शासकीय सेवा के अन्य लाभ पेंशन, ग्रेच्युटी, प्रोविडेंट फंड आदि के स्वीकृति-पत्र 8 दिन में दिए जाने के निर्देश दिए है। जल संसाधन विभाग के 86 अधिकारी और कर्मचारियों की मृत्यु कोविड के कारण हुई थी, ऐसे परिवारों के लिए संभागवार अधिकारी को उनकी समस्याओं को हल करने के लिए भी अधिकृत किया गया है। साथ ही उन परिवार के सदस्यों को भी उनसे लगातार संपर्क रखने के लिये कहा।

इसके साथ ही तुलसी सिलावट ने ईएनसी ऑफिस पहुँचकर जल संसाधन विभाग के वरिष्ठ संभागीय अधिकारियों को फोन लगाकर सभी अनुकंपा नियुक्त के प्रकरणों को तुरंत निराकृत करने और नियुक्ति-पत्र देने के निर्देश दिए है और कहा कि विभाग के वरिष्ठ अधिकारी संबंधित के घर जाकर नियुक्ति-पत्र प्रदान करे।वही 8 दिन में ऐसे सभी अधिकारी और कर्मचारियों जिनकी मृत्यु कोविड के कारण हुई है, उनके परिवार के योग्य और पात्र सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति दी जाए, पेंशन प्रकरण और ग्रेच्युटी की राशि भी 8 दिन में उपलब्ध करा दी जाए। अनुकम्पा नियुक्ति के सभी प्रकरणों में ज्वाइनिंग की सूचना तुरंत ईएनसी ऑफिस को प्रदान करे।

इस दौरान तुलसी सिलावट ने विभाग के कर्मचारी की कोविड से मृत्यु होने पर कोलार कॉलोनी, भोपाल स्थित उनके घर पहुँचकर सांत्वना दी और उनके परिवार के लड़के को नियुक्ति- पत्र प्रदान किया। जल संसाधन विभाग में चौकीदार पद पर पदस्थ स्वर्गीय उत्तम मेश्राम की कोविड से मृत्यु हो गई थी, जिसके बाद आज उनके बेटे मनीष को नियुक्ति-पत्र दिया और अधिकारियो के साथ भेजकर आज ही ज्वाइनिंग भीं करवाई।

इसके बाद मंत्री तुलसी सिलावट इसके बाद दूसरे कर्मचारी स्वर्गीय आशोक कुमार खरे के निवास पर पहुँचकर परिवार से मिले और उनकी पत्नी श्रीमती प्रतिभा खरे को शासकीय सेवा के लाभ अवकाश नगदीकरण, ग्रुप इंश्योरेंस, और प्रोविडेंट फंड की राशि लगभग 3 लाख 25 हजार रुपए का स्वीकृति-पत्र प्रदान किया। साथ ही परिवार को शेष सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक अधिकारी को अधिकृत किया और परिवार से संबंधित अधिकारी के फोन नंबर भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है।

ads

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here