मुख्यमंत्री शिवराज से एक माह में तीसरी बार मिलेंगे सिंधिया, भाजपा में सियासी हलचल तेज

किसी भी प्रदेश में जब दो बड़े राजनेता मिलते हैं तो सियासी दलों के बीच हलचल मच जाती है, दलों के बीच रणनीतिक विचार गाहे-बगाहे जन्म लेने लगते हैं। अब राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया फिर से 26 दिसंबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने जा रहे हैं। बताते चले कि दोनों बड़े नेताओं के बीच 25 दिन में यह तीसरी बैठक है। सिंधिया की प्रदेश में सक्रियता बढ़ने से मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर सुगबुगाहट तेज हो गई है। इससे पहले भी सिंधिया 30 नवंबर और 11 दिसंबर को शिवराज से मिल चुके हैं।

सूत्रों के मुताबिक 26 दिसंबर को मुख्यमंत्री आवास में शाम को 6 से 7 के बीच होने वाली सिंधिया और शिवराज की बैठक का समय करीब एक घंटे का तय किया गया है। सिंधिया इस बैठक के बाद सीधे भाजपा कार्यालय जाएंगे।  

सरकार में होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार और प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा के आसार इसलिए भी बढ़ गया हैं, क्योंकि प्रदेश के प्रभारी पी. मुरलीधर राव 26 दिसंबर को ही दो दिवसीय प्रवास पर भोपाल आ रहे हें। हालांकि वे सीहोर में आयोजित जिलाध्यक्षों के ट्रेनिंग कैंप में शामिल होंगे, लेकिन भाजपा कार्यालय में वह प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री के साथ मीटिंग करेंगे।

इस दौरान सिंधिया भी मुरलीधर राव से मुलाकात करेंगे। इस मंत्रिमंडल विस्तार का इंतज़ार सिंधिया के समर्थकों को सबसे ज्यादा है क्योंकि कयास लगाए जा रहे हैं कि उपचुनाव जीतने वाले दोनों उम्मीदवारों (तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत ) का मंत्रिमंडल में फिर से शामिल किया जाना तय है, वही दूसरी तरफ सिंधिया पर इस बात का दबाव भी अधिक है कि प्रदेश के अन्य नेताओं को निगम-मंडल व संगठन में जगह दी जा रही है।

इससे पहले 11 दिसंबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुलाकात 10 मिनट में खत्म हो गई थी। वहीं सिंधिया को मीटिंग के लिए मुख्यमंत्री आवास में शिवराज का करीब 40 मिनट इंतजार भी करना पड़ा था।

Leave a Reply