सागर: नाबालिग प्रेमियों ने ट्रेन से कटकर की खुदकुशी दी, सुसाइड नोट बरामद

मध्य प्रदेश के सागर जिले में एक नाबालिग प्रेमी जोड़े ने बीती रात ट्रेन से कटकर जान दे दी। दोनों शुक्रवार को घर से स्कूल के लिए निकले थे। इसके बाद वापस घर नहीं लौटे, दोनों के बैग स्कूल में ही रखे मिले। बीती रात करीब साढ़े तीन बजे दोनों ने सानौधा थाने के पास रेलवे ट्रैक पर ट्रेन से कटकर जान दे दी। पुलिस को ट्रैक पर सुसाइड नोट व मंदिर में चढ़ाया हुआ प्रसाद भी रखा मिला है। सुसाइड नोट में दोनों ने एक-दूसरे से प्रेम करने की बात कही है। इसी वजह से जान दी। दोनों आपस में दूर के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। घटना के बाद सानौधा पुलिस, एफएसएल की टीम व रेलवे पुलिस मौके पर जांच कर रही है।

सानौधा टीआई ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि, गिदवानी गांव में रहने वाले नाबालिग छात्र व् छात्रा क्रमशः 11वीं और 10वीं के छात्र थे। दोनों शुक्रवार सुबह घर से स्कूल के लिए निकले थे। वे मुहली गांव की शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला में पढ़ते थे। शुक्रवार को स्कूल से छुट्टी होने के बाद दोनों घर नहीं लौटे और अपना बैग स्कूल में ही छोड़कर पास के ही हनुमान मंदिर पहुंचे। वहां मंदिर में प्रसाद चढ़ाया।

शाम के समय मंदिर के पुजारी ने भी दोनों को वहां बैठे हुए देखा। दोनों करीब 4 घंटे तक मंदिर के आसपास रहे और फिर वहां से निकल आए। इसके बाद रात करीब साढ़े तीन बजे दोनों ने मंदिर से आधे किलोमीटर दूर स्थित रेलवे ट्रैक पर जाकर जान दे दी। पुलिस को रेलवे ट्रैक पर पत्थरों से दबा हुआ सुसाइड नोट मिला है। जिसमें लड़की ने लिखा है कि मैं आकाश से प्यार करती हूं। मेरे घर वालों की कोई गलती नहीं है। हम दोनों अपने मर्जी से मर रहे हैं। हम दोनों के घर वालों की कोई गलती नहीं है। तो वहीं लड़के ने सुसाइड नोट में लिखा कि मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा हूं। मेरे घर वालों की कोई गलती नहीं है। 

घटना की सूचना सबसे पहले रेलवे को मिली क्योंकि ट्रेन चालकों ने सुबह ट्रैक पर शव पड़े होने की जानकारी रेलवे पुलिस को दी। टीआई ने बताया कि घटना की जांच शुरू कर दी गई है। मौके से सुसाइड नोट व मंदिर में चढ़ाया हुआ प्रसाद मिला है।

Leave a Reply