सियासी हलचल के बीच Narayan Patel ने मुख्यमंत्री Shivraj को लिखा पत्र, की यह मांग

0
38

मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन को अब प्रशासन संक्रमण की घटती दर को देखते हुए धीरे-धीरे हटा रहा है। अब वह सख्ती भी नहीं अपनाई जा रही जो अप्रैल और मई के महीने में प्रशासन और पुलिस प्रशासन द्वारा की गई थी। इस बीच बीजेपी विधायक नारायण पटेल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और आध्यात्म (धर्मस्व) मंत्री ऊषा ठाकुर को पत्र लिखकर ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मुख्य मंदिर सहित प्रमुख धार्मिक स्थल खोलने की मांग की है।

खण्डवा जिले की मांधाता विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक नारायण पटेल ने इसके पीछे तर्क दिया है कि इन धार्मिक स्थलों से कई परिवारों की आजीविका लगी हुई है, और वह परिवार इस कोरोना संकट में बहुत परेशानी से लंबे समय से जूझ रहे हैं। अगर धार्मिक स्थल खोल दिए जाएंगे और मंदिरों में दर्शन की व्यवस्था पुनः प्रारंभ हो जाएगी तो इनकी रोजी रोटी का संकट उत्पन्न नहीं होगा।

पत्र में विधायक नारायण पटेल ने कहा कि भिखारी से लेकर मंदिर के बाहर फुल-प्रसाद सहित धार्मिक वस्तु भण्डार की दुकान चलाने वाले एवं चप्पलों को सहेज कर रखने वाले सहित अन्य छोटो-छोटे दुकानदार होटल, भोजनालय सहित पांडित्यकर्म कर पुजन-पाठ करने वाले इन सभी की आजीविका इन धार्मिक स्थलों से लगी हुई है इसलिए मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों को खोला जाना चाहिए।साथ ही मुख्यमंत्री  से यह भी मांग की है कि धार्मिक स्थलों पर भीड़ नियंत्रण के लिए स्थानीय प्रशासन कोई ऐसी वैकल्पिक व्यवस्थाओं का निर्माण सुनिश्चित करें, जिससे लोगों को दर्शन भी मिल सके और वह संक्रमण से भी बच सके।

बता दें कि नारायण पटेल की विधानसभा में ओंकारेश्वर ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर विश्व प्रसिद्ध मंदिर है । यहां पर लाखो की संख्या में लोग प्रतिवर्ष आते हैं और नर्मदा स्नान कर ओंकारेश्वर महादेव के दर्शनों उपरांत ओंकार पर्वत की परिक्रमा कर पुण्य लाभ लेते हैं। तीर्थनगरी ओंकारेश्वर करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र हैं। इसलिए पटेल ने मुख्यमंत्री सहित मध्यप्रदेश शासन के आध्यात्म विभाग की मंत्री ऊषा ठाकुर(दीदी) से यह मांग की है।

नारायण पटेल
ads

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here