भद्दे कमेंट और डराती-धमकाती है सीनियर्स, अरबिंदो मेडिकल कॉलेज की एमबीबीएस छात्रा ने की यूजीसी से शिकायत

0
22

देश भर के कॉलेजों में रैगिंग पर प्रतिबन्ध है, साथ ही इसके लिए कड़े नियम व कायदे भी बनाए गए हैं। इसके बावजूद भी कभी-कभी रैगिंग का जिन्न सामने आ ही जाता है।  अब ताजा मामला शहर के अरबिंदो मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस छात्रा के साथ रैगिंग का है। जहां थर्ड प्रोफ की छात्रा ने होस्टल में सीनियर छात्राओं की रैगिंग से तंग आकर यूजीसी में मामले की शिकायत की। 

आरोपों में कहा गया कि, उनकी सीनियर छात्राएं छात्रा पर भद्दे कमेंट करती हैं, साथ ही डराती-धमकाती भी हैं। यही नहीं, छात्रा को बार-बार परेशान किया जाता है। इस पर यूजीसी ने कॉलेज को शिकायत की जांच का जिम्मा सौंपा। इसके बाद कॉलेज ने एक छात्रा को बुलाया औैर रैगिंग को लेकर पूछताछ भी की है। 

वहीं, इस मामले पर प्रबंधन का कहना है कि शिकायत करने वाली छात्रा अभी तक सामने नहीं आई है। फिर भी हम नजर रख रहे हैं। कॉलेज के डीन डॉ. आर,आर बवारे का कहना है कि, मामले की गंभीरता से जांच की है। रिपोर्ट यूजीसी को भेज रहे हैं।

आपको बता दें कि, रैगिंग के मामले में यूजीसी बेहद सख्त है। अगर विद्यार्थी सामने आकर कॉलेज की एंटी रैगिंग कमेटी को बयान दे तो आरोपी छात्र या छात्रा को एक साल के लिए निष्कासित किया जा सकता है। पीड़ित के साथ मारपीट की स्थिति में तो पूरी डिग्री निरस्त की जा सकती है। यही नहीं, पीड़ित चाहे तो आरोपी सीनियर छात्रों पर एफआईआर भी करवा सकता है।

ads

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here